Uncategorized

राठौड़ वंश की उत्पत्ति/Origin of rathore dynasty

राजस्थान का पश्चिमोत्तर भाग प्राचीन काल में मरु प्रदेश कहलाता था जो कालांतर में मारवाड़ कहलाया। इसमें प्रशासनिक रूप से जोधपुर, बीकानेर, जालौर, बाड़मेर, नागौर, पाली, किशनगढ़ एवं आसपास का प्रदेश सम्मिलित था। यहां प्रारंभ में गुर्जर प्रतिहार वंश तत्पश्चात राठौड़ वंश का शासन हुआ जो राजस्थान के निर्माण तक रहा। राठौर शब्द भाषा में …

राठौड़ वंश की उत्पत्ति/Origin of rathore dynasty Read More »

Maharaja Ajit Singh/जोधपुर महाराजा अजीत सिंह

हमारे टेलीग्राम ग्रुप में शामिल होने के लिए क्लिक करेंहमारे व्हाट्सएप ग्रुप में शामिल होने के लिए क्लिक करें1679 से 1724महाराजा जसवंत सिंह की गर्भवती रानी जसवंत दे ने  19 फरवरी 1679 को राजकुमार अजीत सिंह को लाहौर में जन्म दिया। वीर दुर्गादास एवं अन्य राठौर सरदारों ने मिलकर औरंगजेब से राजकुमार अजीत सिंह को …

Maharaja Ajit Singh/जोधपुर महाराजा अजीत सिंह Read More »

शिक्षक भर्ती के लिए मनोविज्ञान पुस्तक

दोस्तों आज मैं आपके लिए मनोविज्ञान की बुक लेकर आया हूं। दोस्तों इस पुस्तक को पढ़कर आप मनोविज्ञान से संबंधित सारे प्रश्न सही तरीके से हल कर सकते हो क्योंकि आप सबको पता ही है कि रीट भर्ती माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर करवाता है तो संभावना यह बनती है की माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अपने द्वारा …

शिक्षक भर्ती के लिए मनोविज्ञान पुस्तक Read More »

मारवाड़ के राव चन्द्र सेन राठौड़ महाराणा प्रताप के पथप्रदर्शक

राव चंद्रसेन राठौड़ (1562 से 1581 ई.) राव मालदेव ने अपने जेष्ठ पुत्र राम से अप्रसन्न होकर इसे राज्य से निष्कासित कर दिया, जिस पर वह केलड़ा (मेवाड़) में जाकर रहने लगा। उसके छोटे भाई से भी उसकी पटरानी नाराज हो गई जिससे उसे राज्य अधिकार से वंचित रखा गया और उसे जागीर देखकर फलोदी …

मारवाड़ के राव चन्द्र सेन राठौड़ महाराणा प्रताप के पथप्रदर्शक Read More »